ਰਾਮ ਰਹੀਮ ਨੇ ਕਿਹਾ ਕੇ ਉਸਦੇ ਦਰਦ ਦੀ ਸਿਰਫ਼ ਇਕ ਹੀ ਦਵਾਈ ਹੈ ਤੇ ਉਹ ਹੈ ਦੀਦਾਰ-ਏ-ਹਨੀ

राम रहीम ने जेल में मिलने के लिए पांच लोगों की लिस्ट दी है जिसमें उन्होंने दोनों बेटियों और दामाद से मिलने इच्छा ज़ाहिर की है लेकिन इस लिस्ट में एक नाम और भी है जिससे वह सहसे पहले मिलना चाहते हैं। ये नाम है राम रहीम की मुंहबोली ”बेटी” हनीप्रीत का। आपको बता दें कि राम रहीम की गिरफ़्तारी और सज़ा के बाद से हनीप्रीत ग़ायब है और उसके ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। हनीप्रीत पर राम रहीम को फ़रार कराने की साज़िश रचने का आरोप है।

ग़ौरतलब है कि राम रहीम पर दो शिष्याओं के साथ यौन शोषण के आरोप थे। सीबीआई अदालत ने राम रहीम को इस मामले में 20 साल की सज़ा सुनाई है। राम रहीम इस समय रोहतक की सुनारिया जेल में सज़ा काट रहे हैं। राम रहीम की सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन किसी भी कैदी को उसके परिजन से नहीं मिलने दे रहा है।

राम रहीम को डेरा से जेल गए एक सप्ताह हो गया है। जेल में उन्हें माली का काम दिया गया है, जिसके लिए 40 रुपये प्रतिदिन मेहनताना मिलता है। राजसी ठाट-बाट से रहने वाले डेरा प्रमुख के लिए यह सब बहुत कठिन है। सूत्रों के मुताबिक जेल की 8X8 वाली सेल में राम रहीम दीवारों से बातें करते हैं। गुरमीत ने सीबीआई कोर्ट में अर्जी देकर यह भी कहा था कि उनकी पीठ में दर्द रहता है और उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ही मसाज करती है इसलिए उसे सहायक के तौर पर रखा जाए।

दो बार दी गई अर्जी में गुरमीत ने अलग-अलग कारण बताए, लेकिन डॉक्टरों ने इन दावों को झूठा साबित कर दिया। पहला दावा रोहतक जेल पहुंचने के बाद किया। उस दौरान कहा कि उसे हाइपरटेंशन, पीठ में दर्द और डायबीटीज़ है। जांच के लिए रोहतक पीजीआई के तीन डॉक्टरों को बुलाया गया तो रिपोर्ट नॉर्मल आई। इसके बाद दोबारा गुरमीत ने जेल में रहते हुए याचिका लगाई थी, जिसे कोर्ट ने अस्वीकार कर दिया है। गुरमीत का कहना है कि उन्हें पीठ में दर्द रहता है और हनीप्रीत फिजियॉथेरपी के अलावा मसाज करती हैं, इसलिए साथ रहने दिया जाए।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *